November 26, 2022

Rigveda (ऋग्वेद) – An Introduction -01 – Astronomical Significance behind Classification of Suktas

नमस्ते, प्रणाम 🙏
Namaste, Pranam 🙏

Rigveda – An Introduction ( Astronomical Significance behind Classification of Suktas )

ऋग्वेद – एक परिचय ( ऋग्वेदिक सूक्तों के वर्गीकरण का खगोलीय वैज्ञानिक आधार

इस वीडियो प्रस्तुति के माध्यम से ऋग्वेद संहिता के परिचय वाली श्रृंखला को आरम्भ किया गया है। आज की पहली कड़ी में ऋग्वेद के महत्व को बहुत संक्षिप्त से बताया गया है।

Through this video presentation we have started the series of Introduction to Rigveda. By the first video of this series we tried to understand the significance of Rigveda.

इसके साथ ही ऋग्वेद में प्रवेश से पहले इसकी संरचना व इसके मंडलो में सूक्तों के वर्गीकरण को समझने का प्रयास किया गया है।

Along with this, prior to enter into Rigveda, we are trying to understand it’s architecture and classification of various Sukta through this video.

सूक्तों के इस वर्गीकरण के पीछे कैसी खगोलीय संकल्पना को आधार बनाया गया है; इसे समझने का प्रयास किया गया है।

Behind this classification, what are the foundations and basis of astronomical conceptions, tried to explain this in brief.

इसमे हम देखते हैं कि ऋग्वेद के प्रवेश द्वार से ही वैदिक वाङ्गमय के अद्भुत समुन्नत विज्ञान की चिलमिलाती चमचमाती झलकियां देखने को मिल जाती है।

We hereby can have a look upon the sparkling scientific features of highly developed and advanced scientific conceptions at the very entry gate of Vedic Scriptures.

शनैःशनैः, आगे की कड़ियों में इन सब को और अधिक विस्तृत रूप में देखने और समझने का प्रयास किया जाएगा और अध्ययन करेंगे कि कैसे ये वैदिक वाङ्गमय अनगिनत विविध प्रकार की संकलोनाओ व ज्ञान विज्ञान से भरे पड़े हैं।

Slowly, in this series, we shall try to understand these in an elaborative way and would study that how these vedic scriptures are variegated with enormously diversified spectrum of knowledge.

आनो भद्रा: क्रतवो यन्तु विश्वतः
सुन्दर और भद्र विचारों को ब्रह्मांड की सभी दिशाओं से आने दें और ग्रहण करें।
Let the noble thoughts come from every direction and receive it.

धन्यवाद, Thank You,

चन्दन प्रियदर्शी, Chandan Priyadarshi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!