अथर्ववेद (AtharvaVeda)

अथर्ववेद संहिता – 2:33 – यक्ष्मविबर्हण सूक्त

अथर्ववेद संहिता॥अथ द्वितीय काण्डम्॥[३३- यक्ष्मविबर्हण सूक्त] [ ऋषि -ब्रह्मा। देवता – यक्षविबर्हण (पृथक्करण) चन्द्रमा, आयुष्य।…

अथर्ववेद संहिता – 2:32 – कृमिनाशन सूक्त

अथर्ववेद संहिता॥अथ द्वितीय काण्डम्॥[३२- कृमिनाशन सूक्त] [ ऋषि – काण्व। देवता– आदित्यगण। छन्द -अनुष्टुप् ,…

अथर्ववेद संहिता – 2:30 – कामिनीमनोऽभिमुखीकरण सूक्त

अथर्ववेद संहिता॥अथ द्वितीय काण्डम्॥[३०- कामिनीमनोऽभिमुखीकरण सूक्त] [ ऋषि – प्रजापति। देवता – १ मन. २…

अथर्ववेद संहिता – 2:29 – दीर्घायुष्य सूक्त

अथर्ववेद संहिता॥अथ द्वितीय काण्डम्॥[२९- दीर्घायुष्य सूक्त] [ ऋषि – अथर्वा। देवता – १ वैश्वदेवी (अग्नि,…

अथर्ववेद संहिता – 2:28 – दीर्घायु प्राप्ति सूक्त

अथर्ववेद संहिता॥अथ द्वितीय काण्डम्॥[२८- दीर्घायु प्राप्ति सूक्त] [ ऋषि – शम्भु। देवता – १ जरिमा,…

अथर्ववेद संहिता – 2:27 – शत्रुपराजय सूक्त

अथर्ववेद संहिता॥अथ द्वितीय काण्डम्॥[२७- शत्रुपराजय सूक्त] [ ऋषि – कपिञ्जल। देवता – १-५ ओषधि,६ रुद्र,…

अथर्ववेद संहिता – 2:25 – पृश्निपर्णी सूक्त

अथर्ववेद संहिता॥अथ द्वितीय काण्डम्॥[२५- पृश्निपर्णी सूक्त] [ ऋषि– चातन। देवता – वनस्पति पृश्निपर्णी। छन्द –…

error: Content is protected !!