राजकृत सूक्त

अथर्ववेद – Atharvaveda – 3:05 – राजा और राजकृत सूक्त

अथर्ववेद संहिता॥अथ तृतीय काण्डम्॥ इस सूक्त में पर्णमणि का विवरण है। कोशों में पर्ण का अर्थ 'पलाश' दिया गया है,...

error: Content is protected !!