वाजीकरण सूक्त

अथर्ववेद – Atharvaveda – 4:04 – वाजीकरण सूक्त

अथर्ववेद संहिताअथ चतुर्थ काण्डम् इस सूक्त में बल-वीर्यवर्द्धक ओषधि का उल्लेख है। आचार्य सायण ने इसे कपित्थ से जोड़ा है।...

error: Content is protected !!